टीचर बनना चाहती थी ईशा अंबानी पर बन गयी रिटेल बिज़नेस की किंग जाने क्यों मुकेश अंबानी ने दिया अहम रोल

टीचर बनना चाहती थी ईशा अंबानी पर बन गयी रिटेल बिज़नेस की किंग जाने क्यों मुकेश अंबानी ने दिया अहम रोल

Reliance AGM  हाल ही में हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज़  की 45वी एनुअल जनरल मीटिंग में रिलायंस  इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी ने  रिटेल बिज़नेस  के  लिए ईशा अंबानी  को जिम्मेदारी सौंपते हुए रिटेल बिज़नेस का भविष्य बताया। यह बात किसी से छुपी हुई नहीं है की मुकेश अंबानी दुनिया के सबसे धनवान लोगों में गिने जाते हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन  और सबसे बड़े कॉर्पोरेट घरानों में से एक , अबअपने आने वाली पीढ़ी को जिम्मेदारी सौंपने की दिशा मैं आगे बढ़ते नजर आ रहे हैं। जहाँ आकाश अंबानी रिलायंस जिओ की कमान थामे हुए हैं वहीं ईशा अंबानी को रिटेल बिज़नेस का मुखिया बनाया गया है।

 ईशा अंबानी का रिलायंस जिओ में योगदान

ईशा अंबानी ने बहुत ही छोटी उम्र में व्यवसाय को समझने का प्रयास किया। उन्होंने दूसरी कंपनी मे कुछ समय बिज़नेस एनालिस्ट के तौर पर भी काम किया। 23 साल की उम्र में वे अपने पिता का हाथ बंटाने के लिए रिलायंस के कारोबार के समझना चालू कर दिया। इसका परिणाम यह था की उन्हें रिलायंस जिओ के बोर्ड में जगह दी गई।

मुकेश अंबानी  ने किया एक बड़ा अनाउंसमेंट

मुकेश अंबानी अपने नए वेंचर की कमान अपने बेटी ईशा अंबानी के हाथ सौंपी है। उन्होंने उन्हें रिटेल बिज़नेस का मुखिया बताते हुए उन्हें स्टेज पर आमंत्रित किया। ईशा अंबानी ने अपने कारोबार की सारी जानकारी साझा की। उन्होंने घर बैठे आराम से व्हाट्सएप पर किराना ऑर्डर करने की सुविधा के बारे में जानकारी दी।इस अनाउंसमेंट के बाद उम्मीद लगाई जा रही है है कि यह एक और अलग क्रांति हो सकती है।

 रिटेल बिज़नेस के फायदे

इस रिटेल बिज़नेस से काफी फायदा होने की संभावना है क्योंकि इसमें दी गयी सुविधाएं सबको अपनी ओर आकर्षित जरूर करेंगे। व्हाट्सएप के ज़रिए सामान खरीदना एवं ऑनलाइन के ज़रिए उसका भुगतान करने से लोगो काफी सुविधा होने वाली है। कयास लगाया जा रहा है कि मुकेश अंबानी अपने छोटे बेटे को जल्द तेल और ऊर्जा के व्यापार सौंप सकते हैं। 65 वर्षीय मुकेश अंबानी अब अपने बच्चों को अपनी जिम्मेदारिया सौंपते नजर आ रहे हैं।

Ranjana Pandey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *