बॉलीवुड की दुनिया में छोटे नवाब उर्फ सैफ अली खान का काफी बड़ा नाम है। सैफ अली खान ने अपने अभिनय के दम पर यह नाम और पहचान कमाई है।

इसके अलावा सैफ पटौदी खानदान के नवाब भी हैं। इनके नाम पूरे देश में कई आलीशान प्रॉपर्टीज हैं। इन्हीं में से एक प्रॉपर्टी है पटौदी पैलेस।जिसे वापस पाने के लिए सैफ को तगड़ी कीमत देनी पड़ी।

ये  बात सैफ ने खुद बताई कि नवाब होने के बाद भी उन्हें पटौदी पैलेस हासिल करने के लिए काफी बड़ी रकम देनी पड़ी थी।सैफ के मुताबिक पिता मंसूर अली खान पटौदी की मृत्यु के बाद पटौदी पैलेस नीमराणा होटल्स को किराए पर मिल गया था। जिसमें अमरनाथ और फ्रांसीसी होटल चलाते थे ।इसके बाद फ्रांसीसी की मौत के  बाद नीमराणा ने सैफ से पटौदी पैलेस वापस लेने की बात की।

जिसे सुनकर सैफ राजी होगए। लेकिन नीमराणा ने सैफ के सामने शर्त रखी कि इसके लिए उन्हें नीमराणा को कीमत देनी होगी। सैफ को ये मजाक लगा क्योंकि वो जिस प्रॉपर्टी के मालिक थे उसी की कीमत उन्हें चुकाने के लिए कहा गया। बावजूद इसके सैफ ने बिना किसी झंझट के नीमराणा को पैसे चुका दिए। सैफ की माने तो ये पैलेस उनके पुरखों की संपत्ति है जिसके लिए वो कोई भी कीमत चुकाते।

 

कहां है पटौदी पैलेस ?

हरियाणा के गुरुग्राम से तकरीबन 26 किलोमीटर की दूरी पर अरावली पहाड़ियों के ऊपर पटौदी पैलेस बना हुआ है। इसकी कीमत 800 करोड़ रुपये है| पटौदी पैलेस का इंटीरियर्स बेहद ही शानदार और एंटीक है और अगर बात करें पैलेस के बाहरी हिस्सों की तो इसके चारों ओर हरियाली देखने को मिलती है|सैफ अली खान की मां शर्मिला टैगोर ही टाइगर पटौदी के इस दुनिया से चले जाने के बाद इसकी देखरेख करती हैं|

क्यों है इतना खास ?

पटौदी पैलेस को काफी सुंदर तरीके से डिजाइन है। पैलेस 10 एकड़ के क्षेत्रफल में फैला है।जिसमे 150 सुसज्जित कमरे है।इस पैलेस में कुल 7 ड्रेसिंग रूम,7 बिलियर्ड रूम, लग्जरियस ड्राइंग रूम और डाइनिंग एरिया मौजूद है|

साथ ही बता दे इस पैलेस की देखरेख के लिए लगभग 100 से अधिक नौकर भी रखे गए हैं| अब अगर बात करें पैलेस के बाहरी हिस्सों की तो इस पैलेस के चारों ओर बेहद खूबसूरत सा गार्डन बना हुआ है| इसके साथ-साथ घोड़ों के अस्तबल से लेकर खेल के मैदान और गैरेज भी बने हुए हैं|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *