महाकाल के दर्शन किये बिना जाना पड़ा रणबीर-आलिया को, 11 साल पुराने बीफ वाले बयान पर हुआ जमकर विरोध

महाकाल के दर्शन किये बिना जाना पड़ा रणबीर-आलिया को, 11 साल पुराने बीफ वाले बयान पर हुआ जमकर विरोध

रणबीर और आलिया  ने इसी  साल के अप्रैल महीने में  शादी रचाकर मैं अपने जीवन की नई शुरूआत की। दोनों ने इसी साल 14 अप्रैल को बड़ी धूम धाम से शादी की।  शादी के तीन महीने बाद ही रणबीर अलिया ने एक तस्वीर साझा करते हुए अपने माता पिता बनने की खबर शेयर की। इसी पहल पर आगे बढ़ते हुए दोनों कपल्स रणबीर अलिया उज्जैन में महाकाल मंदिर दर्शन के लिए पहुंचे।

 

वहाँ उन्हें कुछ ऐसा देखने को मिला जिसकी कल्पना उन्होंने कभी नहीं की थी। जैसे ही बॉलीवुड एक्टर रणबीर कपूर और आलिया भट्ट उज्जैन पहुंचे बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता काले झंडे लेकर उनका विरोध करने लगे। देखते ही देखते वहाँ जोरदार हंगामा चालू हो गया। इस हंगामे को देखते हुए रणबीर अलिया ने बिना दर्शन किए जाना ही सही समझा।

विरोध का कारण आखिर क्या था?

यूं तो रणबीर कपूर और आलिया भट्ट लोगों के पसंदीदा कलाकारों में से एक है, परन्तु  उनके कुछ बयान के कारण यह विरोध झेलना पड़ा। कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें रणबीर कपूर एक इंटरव्यू के दौरान उन्हे खाने मैं क्या पसंद यह बताते दिख रहे हैं। यह वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो पर बजरंग दल एवं विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं का ध्यान आकर्षित किया।

 11 साल पुरानी है बात

यह बात आज की नहीं बल्कि  11 साल पुरानी है, जहाँ एक इंटरव्यू के दौरान रणबीर कपूर ने ये कहा था “उन्हें मटन चिकन के साथ साथ बीफ खाना भी काफी पसंद है। किसी के साथ आलिया भट्ट ने भी कुछ दिनों पहले ये बयान दिया था की जिसे मेरी फ़िल्म ब्रह्मास्त्र देखनी हो वो देखें जिसे पसंद करनी हो वो करें  उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता।

इस बात पर गुस्साएं लोगों ने उनका विरोध प्रदर्शन करना चालू किया साथ ही बायकॉट के नारे लगाने लगे।जिसके कारण रणवीर आलिया को बिना दर्शन किए उल्टे पांव ही लौटना पड़ा। बता दें ब्रह्मास्त्र सितंबर को रिलीज होने वाली है यह फ़िल्म बहुत बड़े बजट में बनने वाली कुछ चुनिंदा फिल्मों में से एक है। इस फ़िल्म में अमिताभ बच्चन, मौनी रॉय कपूर, नागार्जुन समय कई सितारे एक साथ देखने को मिलेंगे। इस फ़िल्म को अयान मुखर्जी ने डायरेक्ट किया है।

Ranjana Pandey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *