ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, रहते है सिर्फ 33 लोग, दूर दूर से आते है टूरिस्ट

ये है दुनिया का सबसे छोटा देश, रहते है सिर्फ 33 लोग, दूर दूर से आते है टूरिस्ट

Ajab Gajab: आप सब को यह तो पता है कि दुनिया में सबसे बड़ा देश कौन सा है और सबसे ज्यादा आबादी कौन से देश की है? लेकिन किसी को यह पता नहीं होगा कि दुनिया में सबसे छोटा देश भी है. जहां सिर्फ गिने-चुने लोग ही रहते हैं. यहां के राष्ट्रपति के साथ कोई सुरक्षाकर्मी नहीं होते. राष्ट्रपति अकेले बिना किसी डर के सड़कों पर घूम फिर सकते हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि यहां की कुल आबादी 33 ही है. मतलब कि यहां सिर्फ 33 लोग ही रहते हैं. खास बात यह है कि इस देश को स्वघोषित किया गया है.

ये है इस देश की अनोखी कहानी

दो दोस्तों ने मिलकर 1977 में मोलोसिया नामक अपना खुद का देश बनाने का विचार किया. यहां के निवासी केविन बॉघ और उनके दोस्त के दिमाग में अमेरिका से अलग होकर अपना ही अलग देश बनाने का विचार मन में आया. जिसके बाद बॉघ और उनके दोस्तों ने मिलकर मोलोसिया नामक देश की स्थापना कर दी.

केविन है राष्ट्रपति

मोलोसिया नामक इस सबसे छोटे देश के राष्ट्रपति खुद केविन बॉघ है और उन्होंने अपने आप को एक तानाशाह भी घोषित कर दिया है. इस देश के फर्स्ट लेडी उनकी बीवी है. सबसे छोटे देश में रहने वाले ज्यादातर लोग केविन के रिलेशन वाले ही हैं. लेकिन इस देश को अभी तक किसी भी देश की सरकार ने मान्यता नहीं दी है. आपको जानकर हैरानी होगी कि इस देश में दुनिया के बाकी देशों की तरह लाइब्रेरी, दुकानें, पोस्ट ऑफिस और श्मशान घाट आदि सभी चीजें हैं. इस देश का अपना कानून, मुद्रा और परंपराएं भी हैं.

यहां घूमने आते है टूरिस्ट

मोलोसिया नामक इस देश में काफी लोग घूमने के लिहाज से भी आते रहते हैं. यहां आने के लिए किसी भी टूरिस्ट को अपने पासपोर्ट पर अलग से स्टांप लगवाना पड़ता है. यहां पर आकर लोग इस देश में घूमना और यहां के बारे में जानना पसंद करते हैं.

केविन के जिस दोस्त ने यह देश बनाने में उसकी मदद की बाद में उसी ने इस विचार को छोड़ दिया. लेकिन केविन में अपना यह शौक पूरा करते हुए एक छोटा सा देश बसा लिया. इस देश को बसाये हुए 40 साल हो चुके हैं और यहां पर लोग अभी भी घूमने आते रहते हैं. इस देश के राष्ट्रपति होने के नाते केविन यहां विकास के कार्य भी करवाते रहते हैं. यहां पर घूमने के लिए 2 घंटे का समय पर्याप्त है. इस देश के राष्ट्रपति केविन खुद आए हुए टूरिस्टो को यह देश घुमाते हैं और उन्हें बिल्डिंग और सड़क के बारे में बताते हैं.

Durga Pratap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *