यदि ऐसा हुआ तो समीर वानखेड़े जा सकते हैं जेल, जानिए क्यों महाराष्ट्र सरकार ही पुलिस अधिकारी पर लगा रही गंभीर आरोप ?

यदि ऐसा हुआ तो समीर वानखेड़े जा सकते हैं जेल, जानिए क्यों महाराष्ट्र सरकार ही पुलिस अधिकारी पर लगा रही गंभीर आरोप ?

फिल्म अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को नशीले पदार्थ के प्रकरण में गिरफ्तार करने वाले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई स्थित जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को अब जेल जाना पड़ सकता है? आर्यन की गिरफ्तारी के मौके पर एनसीबी ने जिस प्रभाकर सेल को गवाह बनाया था, उसी ने अब आरोप लगाया कि एनसीबी के अधिकारियों ने खाली कागजों पर हस्ताक्षर करवाए और इस मामले में शाहरुख से 18 करोड़ रुपए की मांग की।

प्रभाकर सेल के खुलासे ने लाया नया मोड़

प्रभाकर सेल के इस हलफनामे से 2 दिन पहले उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा था कि आर्यन खान का ड्रग्स केस फर्जी है और एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे को जेल जाना पड़ेगा, क्योंकि यह बात नवाब मलिक जैसे प्रभावशाली मंत्री ने कही है, इसलिए स्वाभाविक है कि प्रभाकर सेल के हलफनामे के आधार पर मुंबई पुलिस अब समीर वानखेडे के विरुद्ध आपराधिक मुकदमा दर्ज करेगी। मुकदमा दर्ज होने पर पुलिस वानखेड़े को गिरफ्तार भी करेगी।

सेंट्रल एजेंसी और स्टेट पुलिस में हो सकता है टकराव
यदि ऐसा होता है तो यह सेंट्रल जांच एजेंसी और राज्य पुलिस में सीधा टकराव होगा। सवाल उठता है कि प्रभाकर सेल गत एक माह से क्यों चुप रहा? आर्यन के प्रकरण में यदि लेन-देन की बात और खाली कागजों पर हस्ताक्षर करवाए गए थे तो पहले क्यों नहीं बताया? स्वाभाविक है कि अब प्रभाकर पर दबाव है, यह दबाव महाराष्ट्र सरकार का बताया जा रहा है।

मंत्री का रिश्तेदार भी जा चुका है जेल

मंत्री नवाब मलिक का एक रिश्तेदार भी नशीले पदार्थ के पहले के किसी मामले में आरोपी रहा है, तभी से मलिक एनसीबी के जोनल का डायरेक्टर समीर वानखेडे से बेहद नाराज हैं, क्योंकि अब वानखेड़े ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन को भी जेल भिजवा दिया है, इसलिए नवाब मलिक अपनी मुंबई पुलिस से समीर वानखेड़े को ही गिरफ्तार करवाना चाहते हैं। सब जानते हैं कि महाराष्ट्र में शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस की सरकार चल रही है। मुख्यमंत्री का पद शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे के पास है तो गृहमंत्री का पद राष्ट्रवादी कांग्रेस को मिला हुआ है। नवाब मलिक भी राष्ट्रवादी कांग्रेस के कोटे से ही मंत्री हैं।

नवाब मलिक अब भले ही एनसीबी पर लेनदेन का आरोप लगा रहे हो, लेकिन मुंबई के पुलिस कमिश्नर रहे परमबीर सिंह ने तो गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपए वसूलने के आदेश देने का आरोप लगाया था। देशमुख भी राष्ट्रवादी कांग्रेस के ही थे। परमबीर सिंह पर कैसे-कैसे आरोप लगे यह सब जानते हैं। असल में मुंबई और महाराष्ट्र में वही हो रहा है जो गठबंधन सरकार में शामिल लोग चाहते हैं।

यदि कोई व्यक्ति आदेशों को नहीं मानता है तो उसका हाल परमबीर सिंह जैसा या फिर अब समीर वानखेड़े जैसा होगा। नवाब मलिक जैसे मंत्रियों के रहते समीर वानखेडे अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन को कैसे गिरफ्तार कर सकते हैं? हालांकि यह मामला अभी कोर्ट में है और नवाब मलिक आरोपों का जवाब एनसीबी कोर्ट में ही देंगे। समीर वानखेडे ने सभी आरोपों को झूठा बताया है । सूत्रों के अनुसार नवाब मलिक के आरोपों के बाद आर्यन खान और चंकी पांडे की बेटी अनन्या पांडे की मुसीबतें और बढ़ेंगी। एनसीबी अब पूरी ताकत के साथ कोर्ट में सबूत रखेगी।

Chandan Pandey

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *