महिला ने डीएम को मारा ताना, फिर डीएम ने किया कुछ ऐसा कि आप भी देखकर हैरान रह जाएंगे

महिला ने डीएम को मारा ताना, फिर डीएम ने किया कुछ ऐसा कि आप भी देखकर हैरान रह जाएंगे

IAS Priyanka Shukla : आईएएस प्रियंका शुक्ला ( IAS priyanka Shukla ) का नाम काफी लोगों ने सुना होगा. उन्होंने 2006 में लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी ( king george medical medical university ) से एमबीबीएस ( MBBS ) की पढ़ाई पूरी की थी. एमबीबीएस क्लियर करने के बाद उन्होंने आईएएस अधिकारी बनने का फैसला ले लिया क्योंकि यह उनके माता-पिता की ख्वाहिश थी कि उनका बेटा या बेटी बड़े होकर आईएएस अधिकारी ( district magistrate priyanka shukla )  बने. उनके पिता हमेशा से अपनी नेम प्लेट पर कलेक्टर का नाम चाहते थे लेकिन प्रियंका की ख्वाहिश डॉक्टर बनने की थी इसलिए उन्होंने पहले एमबीबीएस कंप्लीट की.

कौन है प्रियंका शुक्ला

षिक्षा और सामाजिक मुद्दों में प्रियंका शुक्ला लाइमलाइट में रहीं. जब उन्होंने छत्तीसगढ़ के शिक्षा और सामाजिक मुद्दों में सुधार करने की पहल की थी तब उन्हें काफी सराहना मिली. उन्होंने वहां के लोगों के लिए कई अवसर तैयार किए और पूरी तरीके से हर अभियान का नेतृत्व भी किया था. उनकी इस दमदार कहानी को बिरला टेक्नोलॉजी लिमिटेड के चेयरमैन ( chairman of birla technology limited )  ने सोशल मीडिया पर शेयर किया था.

उनकी कहानी काफी प्रेरणादायक रही है. एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद भी वह अपनी मेडिकल प्रैक्टिस में लगी हुई थीं. आसपास के लोगों का ध्यान रखना, आस-पास के गांव नियमित जाना और वहां रहने वाले लोगों को स्वास्थ्य की समय-समय पर सलाह देना प्रियंका शुक्ला का काम था. वह एक नेक दिल इंसान है.

इस कहानी ने बदली जिंदगी

एक बार चेकअप के लिए प्रियंका ( IAS priyanka shukla at chattisgarh ) झुग्गी झोपड़ी वाले एरिया में चली गई थी. जहां एक महिला गंदा पानी पी रही थी और वही पानी वह अपने बच्चों को पिला रही थी जब प्रियंका ने उस महिला से मना किया तो उस महिला ने जवाब में कहा कि ” तुम कहीं की कलेक्टर हो क्या” इतना सुनकर प्रियंका को बहुत बुरा लगा उन्होंने सोचा अगर वास्तव में इन चीजों में बदलाव लाना चाहती हैं तो उन्हें कुछ ऐसी उपाधि हासिल करनी होगी कि लोग उनकी सुन सकें तब उन्होंने ठान लिया कि वह यूपीएससी के एग्जाम की तैयारी ( priyanka shukla clear UPSC exam ) करेंगे.

हालांकि पहली बार में वो एग्जाम क्लियर नहीं कर पाईं लेकिन साल 2009 में उन्होंने इस एग्जाम को क्लियर कर लिया. आईएएस क्लियर करने के बाद उन्हें छत्तीसगढ़ का कैडर ( priyanka shukla selected in chattisgarh cadder ) मिला. उसके बाद प्रियंका ने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा. वह लोगों की सेवा करती रहीं. वर्तमान में प्रियंका छत्तीसगढ़ की स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की सचिव के रूप में तैनात है. इससे पहले वह इसी विभाग की संयुक्त सचिव थीं.

Muskan Baslas

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *