पुराने जमाने में राजा अपनी ताकत कैसे बनाये रखते थे ,एक King कैसे 100 रानियों को खुश कर देता था ?

पुराने जमाने में राजा अपनी ताकत कैसे बनाये रखते थे ,एक King कैसे 100 रानियों को खुश कर देता था ?

स्टेमिना: प्राचीन समय में राजा महाराजाओं के एक-दो नहीं बल्कि कई सारी रानियां होती थी. इसके साथ साथ ही वह अपने राज्य और प्रजा की देखरेख भी करते थे. इसलिए पहले के समय में राजा महाराजाओं को इन सब कामों को एक साथ करने के लिए काफी ताकत और ऊर्जा की जरूरत भी होती थी.

स्टेमिना

लेकिन क्या आपको पता है कि पहले के समय में राजा महाराजा इतना स्टेमिना कैसे बना कर रखे थे? अगर आपको नहीं पता है तो आज हम आपको बताएंगे कि पहले के समय में राजा महाराजा कैसे अपनी अंदरूनी ताकत को लंबे समय तक बरकरार रखते थे. वह अपना स्टेमिना बढ़ाने के लिए कुछ शक्तिशाली चीजों का सेवन करते थे.

स्टेमिना: पुराने समय में राजवैध करते थे इन औषधियों का इस्तेमाल

आप सबको हम बता दें कि पहले के समय में हर राज्य का एक राजवैध हुआ करता था और वह अपने राजा के लिए रसायन, जड़ी बूटियों और धातुओं के मदद से कई प्रकार की औषधिया बनाता था.

इन सभी वस्तुओं में कुछ ऐसी चीजें मिलाई जाती थी जिससे राजा लंबे समय तक जवान और ताकतवर रहते थे. आज आपको इस आर्टिकल की मदद से कुछ ऐसी आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनका सेवन करते आप भी लंबे समय तक जवान रह सकते हैं और अपने स्टेमिना को लंबे समय तक बढ़ा सकते हैं.

अश्वगंधा :-

हम आपको बता दें कि अश्वगंधा के चूर्ण का आधा चम्मच हर रात रोज गर्म दूध में डालकर पीने से काफी फायदा मिलता है. अश्वगंधा का सेवन करने से शारीरिक थकान ही दूर नहीं होती बल्कि आपको कई रोगों से मुक्ति मिलती है.

शिलाजीत :-

शिलाजीत के बारे में बात करें तो इसे चावल के जितना छोटा करके शहद के साथ लेना चाहिए. इसका सेवन करने से आपके शरीर में ताकत आने के साथ-साथ शारीरिक ऊर्जा में भी बढ़ोतरी होती है. इसका सेवन करने से आप लंबे समय तक जवान रहेंगे.

स्टेमिना
सफेद मूसली :-

जानकारी के अनुसार सफेद मूसली का चूर्ण बना कर उसे हर रोज सुबह और शाम मिश्री या दूध के साथ लेना चाहिए. इसके सेवन से शारीरिक तंदुरुस्ती बनी रहती है और ऊर्जा भी मिलती है.

केसर :-

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चुटकी भर केसर को गर्म दूध में डालकर पीने से काफी फायदा मिलता है. इसके सेवन से नसों में खून का सही से संचार होता है. इसलिए हर रोज रात को केसर वाला दूध पीना चाहिए.

स्टेमिना

शतावर :-

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर आपको धूम्रपान करने और शराब पीने के आदि है तो आपको इसका सेवन जरूर करना चाहिए. एक चम्मच गाय का घी और मिश्री के साथ शतावर के पाउडर का सेवन करना चाहिए. इससे आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी और आपका अंदरूनी स्टेमिना भी बना रहेगा.

Durga Pratap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *