26-11 हमलों में इस मशहूर अभिनेता ने खो दिया था अपने दीदी-जीजा को

26-11 हमलों में इस मशहूर अभिनेता ने खो दिया था अपने दीदी-जीजा को

26 नवंबर 2008 भारत के लिए एक ऐसी तारीख है, जिसे सुनते ही हर किसी के दिल में दहशत पनप उठती है। 26/11 को देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पाकिस्तान से आए ‘लश्कर ए तौएबा’ के 10 आतंकियों के तीन दिन तक मौत का खूनी खेल खेला था। 18 सुरक्षाकर्मियों सहित कुल 166 लोग इस आतंकी हमले में मारे गए थे। मरने वालों में बॉलीवुड अभिनेता आशीष चौधरी के दीदी और जीजा भी शामिल थे। आज भी उस खौफनाक रात को याद कर आशीष की आंखों से आंसू छलक जाते हैं।

दरअसल, उस रात आशीष की बहन मोनिका छाबरिया और उनके जीजा अजीत छाबरिया ट्राएडंट होटल में स्थित टिफिन रेस्टोरेंट में डिनर कर रहे थे। इस दौरान दो आतंकी ने फायरिंग शुरू कर दी थी। आशीष 48 घंटे तक होटल के बाहर अपनी बहन के इंतजार में खड़े रहे थे। दो दिन बाद उन्हें अपनी बहन की मौत की खबर मिली थी।

आशीष चौधरी ने बातचीत में बताया था, “26/11 मुंबई हमले के बाद मैं 40 दिनों तक डिप्रेशन में चला गया था। ये मेरे पूरे परिवार के लिए वो बहुत ही बुरा वक्त था।”

आशीष ने  अपने ट्वीटर अकाउंट पर अपनी बहन के साथ फोटो शेयर की है और एक इमोशनल पोस्ट लिखा है…. “मेरा कोई भी दिन आपके बिना पूरा नहीं होता मोना… मैं आपको और जीजाजी को हर दिन याद करता हूं। आप बस मुझे हमेशा देखते रहिएगा जैसे मैं आपको आज भी देखता हूं क्योंकि आप मुझे आज भी बहुत हिम्मती बनाती हैं। जैसे पहले हम हर दिन हंसते-खेलते बिताते थे, आप आज भी मेरे साथ हर पल मौजूद हैं और आपके होने से मुझे सांस आती है।”

 

 

आशीष ने बताया था, “उस दौरान हम सभी बहुत बुरे दौर से गुजरे। मेरे पिता की एडवर्टाइजिंग एजेंसी डीफ्रॉड हो गई थी। मेरी पत्नी समिता डिप्रेशन से जूझ रही थीं। मेरी मां का एक्सीडेंट हो गया और उनके दाहिने हाथ और रीढ़ की हड्डी में फ्रैक्चर आ गया था। मेरे बेटे का भी हाथ टूट गया था। यहां तक कि मेरे तीन साल के डॉग की आंख की रोशनी चली गई और उसके सारे अंग खराब हो गए थे।”

आशीष चौधरी ने कहा, “मेरी बहन सभी को खूब प्यार किया करती थीं। वह मेरी बहुत बड़ी फैन थीं। मैं जो भी करता था वह उसे बढ़ावा देती हैं… आज भी उनकी तारीफ मुझे याद आती है।”

Shilpi Soni

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *