बिहार की एक बेटी ने देश का नाम रोशन किया है। इस बेटी को विश्व की नंबर एक कंपनी गूगल ने जॉब ऑफर की है वो एक दो नहीं बल्कि 60 लाख रुपए सालाना की। इस बेटी का नाम है शालिनी झा। जो कि बिहार के भागलपुर जिले में रहती है।

सुल्तानगंज की शालिनी झा को सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर काम करने का मौका मिला है। शालिनी ने अपनी उच्च स्तरीय पढ़ाई दिल्ली से की है। फिलहाल वो अपनी पढ़ाई पूरी कर रही है। जल्द ही वो गूगल के साथ जुड़ेंगी।

 

शालिनी वर्तमान में दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी फॉर वूमेन से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में आखिरी साल की पढ़ाई कर रहीं हैं। इसी दौरान उनका सेलेक्शन गूगल में हुआ। शालिनी की उम्र महज 21 साल की है। शालिनी झा को कॉलेज की ऑन कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में ऑस्ट्रेलियन सॉफ्टवेयर कंपनी अटलैस्सियन से 51 लाख 50 हजार रुपये का पैकेज मिला। उन्‍हें डाटा स्टोरेज कंपनी वेस्टर्न डिजिटल में दो माह की इंटर्नशिप करने के बाद प्री प्लेसमेंट ऑफर मिला।

लेकिन इसके बाद उन्‍होंने ऑफ कैंपस गूगल के करियर पोर्टल में अप्लाई किया। जिसके सात राउंड इंटरव्यू हुए। इंटरव्यू के परिणाम और उनके अनुभव और शिक्षा के आधार पर उन्‍हें गूगल इंडिया में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद के लिए 60 लाख रुपये वार्षिक पैकेज का ऑफर मिला। शालिनी ने कहा कि उन्‍होंने अभी इसे ज्वाइन नहीं किया है। उन्‍होंने कहा कि बीटेक की पढ़ाई पूरी करके जुलाई 2021 में वे गूगल में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर ज्‍वाइन करेंगी।

पढ़ाई ही सफलता का मूलमंत्र

शालिनी की बचपन से ही पढ़ाई में अत्यधिक रुचि थी। वे मानती हैं कि 16 से 18 घंटे बिना एकाग्रता के पढ़ने से बेहतर है आठ से 10 घंटे ही पढ़ाई की जाए।लेकिन ध्यानपूर्वक और एकाग्रता इसके लिए जरुरी है। पढ़ाई किसी और को दिखाने के लिए या डर से नहीं बल्कि खुद के लिए करनी चाहिए । खुद को योग्‍य बनाएं, शिक्षित करें।

इंटनेट नेटवर्किंग साइट्स पर सीमित समय ही दें। शालिनी को पढ़ाई के अलावा क्रिकेट देखना पसंद है। बैडमिंटन और शतरंज खेलना उन्‍हें अच्छा लगता है। शालिनी की माने तो व्‍यक्ति को हमेशा पढ़ाई करनी चाहिए। अच्‍छी पुस्‍तकें जैसे धर्मग्रंथ, गीता और रामचरितमानस को पढ़ने से ज्ञान में वृद्धि होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *